kritya2021, Poetry

Ko Un,.s poem in English Translations.

1) Peace 3
In the word
‘Peace’
I see
bloody corpses.
In the word
‘Peace’
I see scenes
of blazing shells in deepest night.
Didn’t they acclaim it as fireworks on Christmas Eve?
In the word
‘Peace’
I see invasions and exploitation.
In the word
‘Peace’
I see oil.
In the word
‘Peace’
I see American airbases in Central Asia.
We will have to look for another word,
long obsolete or
newly minted,
a word no one uses.

Perhaps, the ‘Shanti’ of a dead language, Sanskrit,
the ‘Kita’
of Malaysia,
that quiet peace,
peace for us all.

Also, the ‘PyeongHwa’ of Korean language,
the morning peace that sustains those ordinary days
when fathers die ahead of their sons.

1) शांति 3

‘शांति’ शब्द में
मैं देखता हूँ
खून सनी लाशें।
‘शांति’ शब्द में
मैं देखता हूँ दृश्य
गहरी रात में फटते बमों के।
क्या वे उसे क्रिसमस की पूर्व संध्या पर पटाखे कहकर
प्रशंसा नहीं करते रहे?
‘शांति’ शब्द में
मैं देखता हूँ आक्रमण और शोषण।
‘शांति’ शब्द में
मैं देखता हूँ तेल।
‘शांति’ शब्द में
मैं देखता हूँ
मध्य एशिया में अमरीकी हवाई ठिकाने।
हमें कोई और शब्द ढूँढ़ना होगा,
जो बहुत पहले पुराना पड़ गया
या फिर नया गढ़ना होगा,
एक शब्द जिसका प्रयोग कोई नहीं करता।

संभवत: मृत हो चुकी भाषा संस्कृत का शब्द ‘शांति’
या मलेशियाई भाषा का ‘किता’ माने हम
जो निशब्द शांति के मायने दे
शांति, हम सबके लिए।

कोरियाई भाषा का ‘प्योंगह्वा’ भी
सुबह की शांति, जो बनाए रखती है उन सामान्य दिनों को
जब मरते हैं पिता बेटों से पहले।

Translation by Rekha Sethi